अगस्त में बारिश 19 साल में सबसे कम

मॉनसून का 2021 सत्र चरम स्थिति वाला रहा। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) की हाल की सूचना के मुताबिक अगस्त महीने में सामान्य से 24 प्रतिशत कम बारिश हुई है और यह 19 साल में सबसे कम बारिश है। वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस सीजन में मॉनसून देरी से आया और अब तक 11 साल में सबसे ज्यादा 1005.3 मिलीमीटर बारिश हुई है। 2010 के बाद यह पहला मौका है, जब दिल्ली में बारिश का रिकॉर्ड 1000 मिलीमीटर के पार पहुंचा है। 

बहरहाल आईएमडी ने कहा कि अगस्त में कमजोर मॉनसूनी बारिश का दो चक्र 9 से 16 अगस्त और 23 से 27 अगस्त के बीच कमजोर रहा, जब उत्तर पश्चिम, मध्य व प्रायद्वीपीय इलाकों व पश्चिमी तट पर बारिश सुस्त रही। आईएमडी ने कहा, 'अगस्त, 2021 के दौरान देश भर में बारिश कुल मिलाकर दीर्घावधि औसत (एलपीए) की तुलना में 24 प्रतिशत कम हुई है। यह अगस्त में 2002 के बाद हुई 19 साल में सबसे कम बारिश है।' 

आधिकारिक रूप से दक्षिण पश्चिमी मॉनसून सत्र 1 जून से शुरू होता है और 30 सितंबर तक चलता है। मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक जून महीने में सामान्य से 10 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई थी, लेकिन जुलाई और अगस्त दोनों महीनों में क्रमश: सामान्य से 7 प्रतिशत और 24 प्रतिशत कम बारिश हुई है। आईएमडी के 4 मौसम डिवीजनों में से मध्य भारत डिवीजन में 39 प्रतिशत कम बारिश हुई है। इसमें महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिशा का हिस्सा आता है। 

उत्तर पश्चिम भारत डिवीजन, जिसमें पूर्वोत्तर के राज्य आते हैं, सामान्य से 30 प्रतिशत कम बारिश हुई है। दक्षिणी प्रायद्वीप में 10 प्रतिशत कम बारिश हुई है। वहीं उत्तर पूर्व डिवीजन में सामान्य से 2 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई है। मौसम विभाग ने अनुमान लगाया था कि अगस्त में बारिश सामान्य रहेगी। अब विभाग ने सितंबर में सामान्य से ज्यादा बारिश का अनुमान लगाया है। 

वहीं दूसरी तरफ दिल्ली में जुलाई और सितंबर में जोरदार बारिश हुई है और कभी कभी तो कुछ घंटों में 100 मिलीमीटर तक बारिश हुई। इसकी वजह से सड़कों, आवासीय इलाकों, स्कूलों, अस्पतालों और बाजारों में घुटने बराबर पानी लग गया और यातायात ठहर गया।