Friday, Jul 11, 2014
    Archive     
                                
होम > अंतरराष्ट्रीय   

मीडियाकर्मी भी हुईं हताहत
बीएस संवाददाता /  September 23, 2013

नैरोबी के एक शानदार मॉल में हुए आतंकवादी हमले में मारे गए लोगों में भारतीय मूल की रूहिला अदातिया सूद भी शामिल हैं। सूद केन्याई मीडिया में काफी जाना-पहचाना नाम रही हैं। हमले के वक्त सूद वेस्टगेट मॉल के ऊपरी तल पर स्थित कारपार्क में मौजूद थी और उस वक्त वहां बच्चों के पाककला प्रतियोगिता की मेजबानी कर रही टीम में शामिल थीं।

खबरों के मुताबिक अमेरिकी एजेंसी यूएसऐड के लिए काम करने वाले केतन सूद से उनका विवाह हुआ और वह गर्भवती भी थीं। सूद रेडियो अफ्रीका समूह के ईस्ट एफएम के प्रस्तुतकर्ता के तौर पर काम करती थीं। इसके अलावा उन्होंने किस टीवी, ई-न्यूज, किस 100 और एक्स एफएम जैसे चैनलों के लिए मनोरंजन की खबरें भी पेश कीं। अपने ट्विटर खाते पर सूद खुद को भोजन पसंद करने वाले शख्स के तौर पर पेश करती थीं। अपनी पसंद को जाहिर करते हुए वह खुद को रोमांच पसंद और डर से मीलों दूर एक बंजी जंपर बताती थीं। अपने ब्लॉग पर लिखे गए एक लेख में उन्होंने यह बात भी स्वीकार की है कि उन्हें भारतीय भोजन से काफी लगाव है। स्वीकारोक्ति करते हुए उन्होंने लिखा, 'शायद मेरी इस पसंद की बड़ी वजह यह है कि मैं एक भारतीय हूं।Ó

रेडियो के कार्यक्रमों में उनके साथी के तौर पर काम करने वाली कमल कौर भी पाक कला प्रतियोगिता के दौरान उनकी मदद के लिए वहां मौजूद थीं। मॉल में चल रही इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए कौर भी अपने दो बच्चों के साथ वहां मौजूद थीं। इसी दौरान हमलावरों ने वहां उपस्थित सभी लोगों को हमले की चपेट में ले लिया।

बीबीसी की खबर के मुताबिक कौर ने कहा, 'सबसे पहले हम पर एक गे्रनेड फेंका गया और यह काम नहीं कर सका। ठीक उसी समय एक बंदूकधारी ने हम पर गोलियां बरसा दीं। गोली मेरे बेटे से सिर्फ एक इंच दूरी से होकर गुजरी। दीवार को छूते हुए यह गोली मेरे बेटे के पास में खड़े बच्चे को लग गई।Ó कौर ने बताया, 'उसके बाद वह हमलावर अपनी बड़ी बंदूक के साथ फिर से बाहर आया। मेरी बेटी धीमी आवाज फुसफुसा रही थी कि खुद को मरा हुआ दिखाने की कोशिश करो। सभी ऐसे रहो कि हम मर चुके हैं क्योंकि शायद वह हमें छोड़ दे।Ó

कौर और उनके बच्चे अपनी जान बचाने में सफल रहे हालांकि उनके बच्चों को पैरों में कुछ चोटें जरूर आई हैं। कौर कहती हैं, 'मेरी बेटी बहुत ही घबरा गई है क्योंकि मेरी साथी रूहिला नहीं रहीं। वह छह महीने की गर्भवती थीं और उन्हें अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। दरअसल हमें बहुत बड़ा झटका लगा है।Ó इस हमले में भारतीय मूल के केन्याई नागरिक 16 वर्षीय निहाल वकारिया को भी अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। अल कायदा से ताल्लुक रखने वाले सोमाली समूह अल सहबाब के आतंकियों द्वारा किए गए इस हमले में दो भारतीय नागरिकों सहित कुल 69 लोगों के मारे जाने की खबर है।    
    भाषा   

  
New Document
  
बढ़ेगी खपत, चमकेगा विनिर्माण
वृद्घि दर के लिए कड़े फैसले जरूरी: मोंटेक
पावर ग्रिड दो परियोजनाओं में करेगी 472 करोड़ रुपये का निवेश
सिप निवेश पर पैन की पाबंदी खत्म!
ऑनलाइन और मोबाइल विज्ञापन होंगे महंगे
  
आज जेल जाएंगे रजत गुप्ता
वनस्पति तेल के आयात में उछाल
संभलकर, आपके निजी ब्योरे पर जालसाज नजर
ओक्युलस को 2 अरब डॉलर में खरीदेगी फेसबुक
रूस का जी8 सम्मेलन यूके्रन संकट के कारण टला
चुनाव से परियोजनाओं पर होगा असर!
तीन पाकिस्तानी बैंक भारत में शाखाएं खोलने को इच्छुक
'केवल मौद्रिक नीति के सहारे नहीं थमेगी महंगाई'
 
  
क्या बजट में अर्थव्यवस्था सुधारने के उपाय पर है जोर?
हां
नहीं
ABOUT US PARTNER WITH US JOBS@BS ADVERTISE WITH US TERMS & CONDITIONS CONTACT US
Business Standard Ltd. Copyright & Disclaimer feedback@business-standard.com

Site best viewed with IE 6.0 or higher, Firefox 2.0 & above at a minimum screen resolution of 1024 x 768 pixels on Windows XP or Windows Vista operating system.